यूरिन इन्फेक्शन के लक्षण और घरेलु उपाय - Home Remedies for Urinary Tract Infection in Hindi

यूरिन इन्फेक्शन के लक्षण और घरेलु उपाय - Home Remedies for Urinary Tract Infection in Hindi

मूत्र मार्ग में संक्रमणनुस्खे और उपचार (home remedies for urine infection in hindi, Urine infection ke gharelu upay aur  upchar in hindi): मूत्रमार्ग और मूत्राशय में संक्रमण हो जाए तो आगे जाके ख़तरा है की गुर्दे में संक्रमण फैल जाए और नुकसान करेगा गंभीर परिणाम के साथ| पुरुषो में यूरिन इन्फेक्शन होता है और ज़्यादातर महिलाओ में जिन्हे तो खास संभल के रहना चाहिए| जानिए यूरिन इन्फेक्शन (urine infection in hindi) और कैसे इसका घरेलू इलाज करे| 

यूरिन इन्फेक्शन के घरेलू उपाय :-

  1. यूरिन इन्फेक्शन के लक्षण - Urine Infection Symptoms in Hindi
  2. यूरिन इन्फेक्शन के कारण - Causes of Urinary Infections in Hindi
  3. यूरिन इन्फेक्शन के प्रकार - Types of Urinary Tract Infection in Hindi
  4. यूरिन इन्फेक्शन का परीक्षण - Diagnosis of Urinary Tract Infection in Hindi 
  5. मूत्राशय संक्रमण के इलाज के प्रकार - Types of UTI Treatment in Hindi 
  6. महिलाओं यूरिन इन्फेक्शन का देसी इलाज - Urine Infection in Women in Hindi 
  7. यूरिन इन्फेक्शन के घरेलू नुस्खे/होममेड रेमेडीस - Home Remedies for Urine Infection in Hindi
  8. मूत्रमार्ग के संक्रमण के आयुर्वेदिक उपाय - Ayurvedic Medicine for Urine Infection in Hindi
  9. एलोपैथी से यूरिन इन्फेक्शन का इलाज - Allopathy Remedies for UTI Infections in Hindi
  10. प्राकृतिक तरीके से UTI का इलाज - Natural Remedies for Urinary Tract Infection in Hindi
  11. जड़ीबूटी से मूत्रमार्ग संक्रमण का इलाज - Herbal Remedies for UTI in Hindi 
  12. बच्चो में यूरिन इन्फेक्शन के लक्षण - Urinary Tract Infection in Children in Hindi 
  13. पुरुषो में मूत्राशय समस्या और संक्रमण - Urine Problem in Male in Hindi
  14. पुरुषो में UTI के घरेलू नुस्खे - Male UTI Home Remedies in Hindi
  15. मूत्राशय संक्रमण से बचने के तरीके - Urine Infection se Bachne ke Upay in Hindi
  16. यूरिन इन्फेक्षन का देसी घरेलू इलाज व उपचार - Urine Infection Tips in Hindi 
  17. UTI के ख़तरे - UTI Risks and Complications in Hindi

यूरिन इन्फेक्शन के लक्षण - Urine Infection Symptoms in Hindi

यूरिन इन्फेक्शन के लक्षण एक तो यह है की पेशाब करते समय जलन होती है| 

  • यूरिन प्राब्लम (Urine problem in hindi) इन्फेक्श  के कारण जानिए की पेशाब बारी बारी जाना पड़ता है मगर पेशाब कम आता है| 
  • कमर के नीचले हिस्से में दबाव और दर्द महसूस होता है तो यह बाथरूम प्राब्लम (bathroom problem in hindi)  का संकेत है| 
  • पेशाब धुँधला हो, खून हो या बदबूदार हो तो संक्रमण होने की संभावना है| 
  • थकान महसूस हो ज़्यादा और फिर बुखार ठंड के साथ आए तो संक्रमण गुर्दे तक पहुँच गया है| 
  • यूरिन इन्फेक्शन सिंप्टम्स इन फीमेल्स इन हिन्दी उपर बताए लक्षण जैसे है और उनको पेट के नीचे के भाग में खास दर्द रहता है| 

संबंधित जानकारी :-

यूरिन इन्फेक्शन के कारण - Causes of Urinary Infections in Hindi

  • ज़्यादातर बैक्टीरिया एस्चेरीचिअ कोली(Escherichia coli) के कारण यूरिन इन्फेक्शन होता है| यह मल में मौजूद होता है और गुदद्वार से बाहर निकल के मूत्रमार्ग में दाखिल हो के संक्रमण कर देता है| 
  • बच्चे के पेसाब मे इन्फेक्शन के कारण है बैक्टीरिया याने कीटाणु से संक्रमण| लड़का हो तो उसके लिंग के उपर की त्वचा को ठीक से काट ना दिया हो,  सॉफ ना रखा हो, ठीक से पेशाब ना करे और अन्य कोई बीमारी हो जाए तो यह सभी यूरिन प्रॉब्लम्स के कारण हो सकते है| लड़की हो तो अगर ठीक से ना पोंछे तो भी गुदा से निकला E|कोली बैक्टीरिया मूत्रमार्ग मे दाखिल हो सकता है| 
  • Urine infection symptoms in females in hindi: संभोग करे तब भी यूरिन इन्फेक्शन पुरुष या महिला को हो सकता है| किसी एक को STD है तो वो दूसरे को संक्रमित करके यूरिन इन्फेक्शन खड़ा कर देता है| 

यूरिन इन्फेक्शन के प्रकार - Types of Urinary Tract Infection in Hindi

यूरिन इन्फेक्शन के घरेलू उपचार जाने इससे पहले जानिए की UTI के कितने प्रकार है| 

  • एक्यूट पाय्लोनेफ्रयटिस (Acute Pyelonephritis) गुर्दे पर असर करता है और इसमें कमर मे दर्द रहता है, बुखार ठंड के साथ आता है, उल्टी होती है और यह परिस्थिति गंभीर है| 
  • सिस्टाइटिस(Cystitis) मूत्राशय पर असर करता है जिसमे पेट के नीचे के भाग मे दबाव, बेचैनी, दर्द से पेशाब और पेशाब मे खून आता है| 
  • यूरेथ्राइटिस (Urethritis)मूत्रमार्गशोथ में पेशाब करते समय जलन होती है और सफेद-पीला-लहू का डिस्चार्ज भी होता है| 
  • अबाउट यूरिन इन्फेक्शन फीवर मेंन इन हिन्दी में पुरुष को प्रोस्टेट (prostate) का प्राब्लम हो जाए और ठीक से पूरा पेशाब बाहर ना आए तो भी यह संक्रमण हो सकता है| 
  • अन्य कारण में गुर्दे की पथरी, मधुमेह, कैथिटर(catheter) का उपयोग और जन्मजात मूत्राशय मे खामियो से संक्रमण हो सकता है| 
  • साधारण संक्रमण होता है मूत्रमार्ग का और गहरा होता है जो किसी अन्य बीमारी के कारण हो सकता है| 

यूरिन इन्फेक्शन का परीक्षण - Diagnosis of Urinary Tract Infection in Hindi 

  • यह जानिए की बाथरूम प्राब्लम इन हिन्दी हो जाए तो डॉक्टर से परीक्षण करवाना ज़रूरी है और इसमें यूरिन का सैंपल लिया जाता है परीक्षण के लिए| 
  • परीक्षण में टेंपरेचर भी नापा जाता है, ब्लड प्रेशर और पल्स भी चेक किया जाता है| 
  • महिलाओ में योनि का भी परीक्षण किया जाता है| 
  • बार बार हो जाता है यूरिन इन्फेक्शन तो CT और MRI का सहारा लिया जाता है और उरोदयनामिक्स(urodynamics) नामक परीक्षण और सिस्टोस्कॉपी(cystoscopy) करते है|

मूत्राशय संक्रमण के इलाज के प्रकार - Types of UTI Treatment in Hindi 

  • यूरिन इन्फेक्शन के लक्षण (urine infection symtoms) प्रकट होने पर इलाज शुरू किया जाता है जो साधारण हालत में एंटीबायोटिक्स से होता है और मरीज़ को पानी खूब पीना होता है जिससे कीटाणु बाहर निकल जाए| 
  • यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन ट्रीटमेंट उलझे हुए मामले में लंबे समय तक एंटीबायोटिक्स दिए जाते है मगर कम प्रमाण में और संक्रमण फैल गया है तो इंट्रावेनस पद्धिति से दवाई दी जाती है| 
  • कोई अन्य बीमारी हो जिसके कारण यूरिन इन्फेक्शन हो गया है तो उसका भी इलाज करना ज़रूरी है|

महिलाओं यूरिन इन्फेक्शन का देसी इलाज - Urine Infection in Women in Hindi 

महिलाओ को यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन ट्रीटमेंट के लिए लंबे समय तक दवाई या 3 दिनों के लिए स्ट्रॉंग डोस और एस्ट्रोजन हॉर्मोन भी दिया जाता है अगर मीनोपॉज(menopause) हो गया है तो| 

यूरिन इन्फेक्शन के घरेलू नुस्खे/होममेड रेमेडीस - Home Remedies for Urine Infection in Hindi

  • दादी माँ के नुस्खे यूरिन इन्फेक्शन के लिए (dadi maa ke nushe for urine infection in hindi) में जानिए की जब एंटीबायोटिक्स लेते हो तो पानी खूब पीते रहे ताकि कीटाणु पेशाब में निकल जाए| 
  • यूरिन इन्फेक्शन घरेलू उपचार इन हिन्दी मे जानिए की ऐसा कुछ ना खाए या पीए जो तीखा हो या खट्टा हो या ज़्यादा नमकीन हो| 
  • बर्निंग यूरिनेशन मेल घरेलू नुस्ख़ा है की जौ को भिगो के कूट के उसका पानी पीते रहे और साथ में संक्रमण कम करने के लिए नींम के पत्ते का रस हल्दी में मिला के सेवन करे| 
  • ब्लैडर इन्फेक्शन में सूजन हो सकती है तो ठंडा और गरम पोटा लगाए पेट के नीचले हिस्से पर| 
  • यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन ट्रीटमेंट में आप बेकिंग सोडा आधा चम्मच पानी मे मिला के पीए तो जलन कम होगी| 
  • कई बार यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन ट्रीटमेंट घर पर कर सकते है सेब के सिरके से जौ एक चम्मच एक कप पानी मे मिला के पीए| 

मूत्रमार्ग के संक्रमण के आयुर्वेदिक उपाय - Ayurvedic Medicine for Urine Infection in Hindi

  • नेचुरल ट्रीटमेंट फॉर UTI आयुर्वेदिक पद्धति से करना है तो हर रोज खाली पेट 2 लहसुन की कली चबाले या तो 5 लहसुन की कली को मक्खन के साथ कूट के खाए| 
  • आयुर्वेदिक रेमेडीस फॉर यूरिन इन्फेक्शन मे किरयता, आमला और हल्दी चूर्ण को पानी के साथ दिन मे दो बार सेवन करे| 
  • गोखरू चूर्ण, गोरखबूटी या कपूर कचली, अनंतमूल और अपमार्ग चूर्ण को संभाग में मिला के पानी मिला के दिन में दो बार पीए बाथरूम यूरिन प्राब्लम इन हिन्दी आयुर्वेदिक उपचार के लिए| 

एलोपैथी से यूरिन इन्फेक्शन का इलाज - Allopathy Remedies for UTI Infections in Hindi

  • ब्लैडर इन्फेक्शन साधारण हो तो गोली के सहारे इसका इलाज किया जाता है| इसमें त्रमेट्परिम (trimethoprim), फॉस्फोमाइसिन(fosfomycin), सेफलेक्शिण (cephalexin) जैसी दवाई से एक हफ्ते में राहत मिलती है| 
  • एलोपैथिक यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन ट्रीटमेंट में इंट्रावेनस ड्रिप के ज़रिए भी दवाई दी जाती है अगर संक्रमण फैला हुआ है| 
  • जटिल बीमारी में लंबे समय तक लौ डोस एंटीबायोटिक्स दिया जाता है| 

प्राकृतिक तरीके से UTI का इलाज - Natural Remedies for Urinary Tract Infection in Hindi

  • एंटीबायोटिक दवा का साइड एफेक्ट (side effects of antibiotics in hindi) जानिए की यह गुर्दे और यकृत पर गहरा असर करती है तो हो सके इतना कम ले और यूरिन इन्फेक्शन घरेलू उपचार इन हिन्दी को आज़माए| 
  • पुनर्नवा के सेवन से बर्निंग यूरिनेशन मेल घरेलू नुस्ख़ा सफल होगा| 
  • वरुण और कासनी चूर्ण से पेशाब ज़्यादा आता है जिससे कीटाणु जल्दी से बाहर निकल जाते है| 
  • शुद्ध गुगुल का सेवन करे तो पेट का इलाज होगा, साथ में मूत्रमार्ग संक्रमण भी ठीक हो जाएगा| 
  • पानी खूब पीए, बार बार पेशाब करे, दही, छाछ वग़ैरह खाए और संभोग करे तो स्पर्मिसाइड (spermicide) का उपयोग ना करे| 
  • गुप्तांगो को सूखा और सॉफ रखे| 

जड़ीबूटी से मूत्रमार्ग संक्रमण का इलाज - Herbal Remedies for UTI in Hindi 

  • ब्लडी यूरिन ट्रीटमेंट (blood urine treatment in hindi) के लिए जड़ीबूटी का सहारा ले जिसमे वरुण, कासनी, अामला, हल्दी, चिरयता जैसी जड़ी बूटी का सेवन बहुत लाभदायक होता है UTI में| 
  • लहसुन और प्याज का सेवन बहुत लाभकारी है और साथ में सहजन भी फायदा देता है| 
  • खाने में लौंग और विटामिन C ज़्यादा हो ऐसे फल और सब्जी का सेवन करे| 
  • सीज़न में मूली अवश्य खाए| 

बच्चो में यूरिन इन्फेक्शन के लक्षण - Urinary Tract Infection in Children in Hindi 

  • बच्चे के पेशाब मे इन्फेक्शन के कारण है कीटाणु, सफाई ठीक ना रखना, कोई बीमारी या घाव| 
  • बच्चो में मूत्रमार्ग संक्रमण हो तो बार बार पेशाब आता है जलन के साथ और वो नींद में भी पेशाब कर देते है| पेट में दर्द भी हो सकता है और साथ में बुखार, उल्टी और खून पेशाब मे आता है| 
  • बच्चो मे मूत्रमार्ग संक्रमण हो तो बहुत जागृत हो के तुरंत इलाज करवाए ताकि गुर्दे को नुकसान ना पहुँचे| 

पुरुषो में मूत्राशय समस्या और संक्रमण - Urine Problem in Male in Hindi

  • अबाउट यूरिन इन्फेक्शन फीवर मेंन इन हिन्दी जानिए की यह हो सकता है गुर्दे के संक्रमण के कारण या तो प्रोस्टेट ग्रंथि की सूजन और संक्रमण से| 
  • पुरुषो में भी वही लक्षण होते है UTI के जो स्त्रियों में है और साथ मे अगर प्रोस्टेट ग्रंथि में सूजन हो तो और तकलीफ़ होती है पेशाब करने में जिससे संक्रमण आसानी से हो जाता है| 
  • मैथुन द्वारा संक्रमण की शक्यता है और गुदा मैथुन में और ख़तरा है| लंबे समय तक बैठे रहने से, पानी कम पीने से, डायबिटीज से, दस्त होने से, यह सभी पुरुषो में पेशाब की तकलीफ़ खड़ी कर सकता है| 

पुरुषो में UTI के घरेलू नुस्खे - Male UTI Home Remedies in Hindi

  • ब्लैडर मे हमेशा स्वेल्लिंग होने से क्या होता है का जवाब है की गुर्दे पर असर होता है और दर्द रहता है और पेशाब भी ठीक से नहीं हो पाता है| 
  • पुरुषो को पानी ज़्यादा पीना चाहिए और कंटिन्यू यूरिन पास करे इन हिन्दी जब भी लग जाए और रोक के ना रखे| 
  • गुप्तांगो को खुल्ला और सूखा रखे ऐसे कपड़े पहने, टाइट अंडरवेर ना पहने| 

मूत्राशय संक्रमण से बचने के तरीके - Urine Infection se Bachne ke Upay in Hindi

  • पेशाब आता है तो रोक के ना रखे| 
  • मल साफ करे मल त्याग के बाद तो आगे से पीछे की तरफ हाथ घुमाए| 
  • पानी खूब पीते रहे और पेशाब नियमित करते रहे| 
  • संभोग के बाद पेशाब करे ताकि कीटाणु मूत्रमार्ग मे आगे ना बढ़े
  • गुप्तांगो की जगह को खुल्ला, सूखा रखे और सूती कपड़े पहने ताकि कीटाणुओं का विकास ना हो सके| 
  • दही, छाछ, मूली को आहार में ज़रूर शामिल करे| 

यूरिन इन्फेक्षन का देसी घरेलू इलाज व उपचार - Urine Infection Tips in Hindi 

  • पब्लिक टाय्लेट का उपयोग करे तो सफाई वाली जगह पर ही जाए| 
  • अगर पेशाब में खून या जलन हो तो तुरंत जाँच करवाए क्योंकि आगे गुर्दे को ख़तरा हो जाता है तो नज़र अंदाज़ ना करे| 
  • सेक्स करे किसी  अनजान व्यक्ति के साथ तो हमेशा सावधानी रखे पहले और बाद में| 
  • गर्भवती महिला को UTI से खास बचके रहना है क्योंकि इससे गर्भपात या प्रिमेच्यूर डिलीवरी(premature delivery) हो सकती है| 
  • महिला गर्भ निरोधक के लिए डायाफ्राम(diaphragm) उपयोग करे तो ब्लैडर पर दबाव होता है और फिर पेशाब संपूर्ण बाहर नही आता है जिससे संक्रमण की शक्यता बढ़ जाती है| 

UTI के ख़तरे - UTI Risks and Complications in Hindi

  • नज़र अंदाज़ करे और ब्लडी यूरिन ट्रीटमेंट ना करे या यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन ट्रीटमेंट समयसर ना करे तो संक्रमण मूत्रमार्ग से मूत्राशय तक और वहाँ से गुर्दे तक पहुँच जाता है और फिर खून मे जा के ख़तरनाक साबित होता है| 
  • जिन की उमर ज़्यादा है, जिन्हे मधुमेह है, पथरी है, गर्भवती है, मूत्रमार्ग में खामी है, रोग प्रतिकारक शक्ति कम है और ऑपरेशन किया है तो खास कर के यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन से संभल के रहना ज़रूरी है| 
  • गुर्दे तक संक्रमण फैल गया तो इनकी कार्यक्षमता कम होने से जान लेवा हो सकता है| 

यह है यूरिन इन्फेक्शन इन हिन्दी जानकारी| यूरिन प्रॉब्लम्स और बाथरूम प्रॉब्लम्स को नज़र अंदाज़ ना करे| सही इलाज और चिकित्सा करवाए तो ख़तरे से बचके रहेंगे आप| क्योंकि ज़्यादातर यह बैक्टीरिया से होती है तो एंटीबायोटिक्स शुरू के चरण मे लेने से कम लेनी पड़ती है और शरीर को नुकसान नहीं होता है और ख़तरा टल जाता है| साथ में घरेलू नुस्खे भी आज़माए और जड़ीबूटी से भी UTI का इलाज करे|

TAGS: #urine infection treatment in hindi #urine infection home remedies in hindi #pregnancy me urine infection in hindi #urinary tract infection home remedies in hindi #peshab me infection in hindi #child uti home remedy #natural remedies for uti in child #indianhome remedies for urine infection in hindi #urine infecton ke desi gharelu ilaj upay nuskhe tarike in hindi

Leave a Comment

Your Name

Comment

7 Comments

Suhana Seth, Dec 26, 2017

Main kai din se bahut pareshaan thi kiyunki mere niche ke side kuchch pain aur thoda khujli ho rahi thi jab mai doctor ke pass gai to unhone bataya ki mujhe urine infection hai Aap please mujhe koi gharelu nuskhe bataiye jinse mujhe jaldi se jaldi rahat mil sake.

Tarun Tripathi, Dec 27, 2017

Aapne jo upar urine infection ke lakshan batayen hain un lakshan mai se ek do lakshan match hota hai iska matlab mujhe urine infection hai jaisa ki toilet mai se smell aana thakawat ka mehsus hona etc etc

मीनाक्षी सेक्सैना, Dec 29, 2017

यूरीन इन्फेक्शन वाले व्यक्ति को घर पर बैठे हुए भी अच्छी खासी परेशानी हो सकती है आम्तोर पर यह समस्‍या एंटीबॉयोअिक दवाएं लेने से ठीक हो जाती है|

साहिबा शेख , Jan 03, 2018

महिलाओं और किशोरियों को विशेषकर गर्मी और बरसात के मौसम में खासतौर से कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए पेशाब लगने पर यानी के जिस समय पेशाब आये उसी समय करलें तो ज़्यादा अच्छा होता है ज़्यादा देर तक पेशाब को रोकने की कोशिश नहीं करना चाहिए क्योंकि पेशाब में बैक्टीरिया होते हैं और जब हम पेशाब को रोकते हैं तब ये ऊपर की तरफ बढ़ते हैं और ये बैक्टीरिया मूत्राशय में संक्रमण का कारण बन सकते है।

रोहित खुराना , Jan 06, 2018

प्रेगनेंसी की अवस्था में मूत्रमार्ग से पस या मवाद का आना एक आम समस्या है जो साधारण तौर पर दिक्कत की वजह नहीं बनती लेकिन अगर यह मात्रा सामान्य से अधिक हो जाये तो ज़रूरी परेशानी का कारण हो सकती है|

तरुण चड्डा , Jan 18, 2018

खूब विटामिन सी युक्‍त जूस पी सकते हैं जैसे अनानास सिट्रस फ्रूट वाले फल भी जैसे के नींबू मोसम्बी, संतरा और अनार आदि और ज़्यादा मात्रा में पानी पीना इसका सबसे अच्‍छा उपचार तो है ही ढेर सारा पानी पियें जिससे बैक्‍टीरिया का नाश हो सके जों का पानी पी सकते हैं नारियल पानी पीना भी एक अच्छा उपाय है|

सिमरन कौर, Jan 24, 2018

एक बार प्रवेश लेने के बाद इन जीवाणुओं की संख्या बढ़ने लगती है जो भविष्य के लिए काफी घातक सिद्ध होते हैं आज हम आपको बताएंगे ज्यादा लंबे समय यूरीन रोकने से और क्या-क्या परेशानियां होने का खतरा रहता है।