माइग्रेन का आयुर्वेदिक इलाज - Ayurvedic Treatment for Migraine Headaches in Hindi

माइग्रेन का आयुर्वेदिक इलाज - Ayurvedic Treatment for Migraine Headaches in Hindi

माइग्रेन का आयुर्वेदिक इलाज (Ayurvedic treatment for migraine headaches in hindi, migraine ka ayuvedic ilaj in hindi): माइग्रेन के कारण जितने है उतनी ही माइग्रेन की दवाई और माइग्रेन के इलाज भी अलग अलग है| माइग्रेन की दवाई से सिर्फ़ राहत मिलती है मगर माइग्रेन के लक्षण और माइग्रेन के मूल कारण का इलाज नहीं होता है| माइग्रेन का आयुर्वेदिक उपचार करे तो माइग्रेन के होने के कारण पर सीधा असर कर के माइग्रेन के दौरे ही कम कर देते है यह आयुर्वेदिक माइग्रेन के उपाय| देखिए कई ऐसे माइग्रेन के आयुर्वेदिक इलाज हिन्दी में और प्रयोग करे तो ज़रूर इस तकलीफ़ से बहुत राहत मिलेगी| आयुर्वेद का मानना है की माइग्रेन कफ और पित्त दोष से होता है और आयुर्वेद माइग्रेन इलाज से यह दोष दूर करे तो माइग्रेन से छुटकारा हो सकता है| 

पान के पत्ते से माइग्रेन का आयुर्वेदिक इलाज – Paan for ayurvedic treatment for migraine in hindi

पान खाना पाचन और लहू के लिए अच्छी बात है जो माइग्रेन के मरीज़ ज़रूर करे| साथ में पान के पत्ते पर अरंडी का तेल लगाए और माइग्रेन का आयुर्वेदिक इलाज में इस पत्ते को तवे पर हल्का सेक ले और माथे पर लगा के उपर पट्टी बाँध के सो जाए| 

तुलसी से माइग्रेन का आयुर्वेदिक उपचार – Basil for ayurvedic treatment for migraine in hindi

माइग्रेन में आयुर्वेदिक उपाय है तुलसी का प्रयोग| तुलसी के पत्तो का रस शहद के साथ खाली पेट सवेरे पीए| ताजे पत्ते ना मिले तो तुलसी के चूर्ण को शहद के साथ सेवन करे| 

अजवाइन से करे आयुर्वेदिक माइग्रेन के उपाय – Carrom seeds for ayurvedic migraine ka ilaj in hindi

आयुर्वेदिक अजवाइन से माइग्रेन का इलाज है अजवाइन बीज का उपयोग| अजवाइन को तवे में सेक दे और चूर्ण बना के सूघने की आदत डाले| 

पंचकर्मा से माइग्रेन का आयुर्वेदिक इलाज – Panchkarma treatment for migraine ayurvedic home remedies in hindi

पंचकर्मा से माइग्रेन का इलाज घर पर हो सकता है और आयुर्वेद के विशेषज्ञ से करवा सकते है| इसमें शिरोविरेचन होता है जिसमे दवाई युक्त आयुर्वेदिक तेल को नाक मे डाला जाता है| दूसरा आयुर्वेदिक माइग्रेन इलाज पद्धति है अवपीड़क नस्य जिसमे जड़ीबूटी का लेप नाक के अंदर किया जाता है| पीपेरमूल और वाचा का आम तौर पर उपयोग होता है| साथ में पंचकर्मा विधीन में गरम पानी के टब में बैठे रहना और इसके पहले तेल की मालिश करना भी माइग्रेन का देसी उपाय है| बस्ती भी पंचकर्मा माइग्रेन इलाज में से एक है| 

आयुर्वेद योगा माइग्रेन के लिए – Yoga for migraine in hindi

10 योगासन है जो खास माइग्रेन के मरीज़ के लिए उचित है| वीरासन, अधोमुख स्वानसन, उत्तानासन, पश्चिमोत्तासन जैसे आसान का प्रयोग सवेरे उठ के करे योगा से माइग्रेन का इलाज करना चाहे तो| 

आयुर्वेद जड़ी बूटी माइग्रेन के लिए – Ayurvedic herbs for migraine ayurvedic nuskhe in hindi

आयुर्वेद में अधशिशी के इलाज के लिया विभिन्न बनावटे और जड़ी बूटी है| अलग जड़ी बूटी लेके सब कुछ करना ना चाहे तो बाज़ार में सुवर्ण सूतशेखर रस का उपयोग करे| गोदन्ती भस्म को दिन में तीन बार शहद के साथ ले| त्रिफला, गुग्गूल, जटामांसी, ब्राहमी और अदरक भी उत्तम आयुर्वेदिक जड़ीबूटी है माइग्रेन से छुटकारा पाने के लिए| अन्य आयुर्वेदिक माइग्रेन की जड़ीबूटी बनावटे है दशमूलारिष्ट, चंदनादि वटी और विध्वनासना रस| आयुर्वेदिक इलाज में पित्तशामक और कफ शामक रामदेव की तैयार गोली खाए तो भी फायदा होता है| केरला में शिरोधारा और शिरोलेपा किया जाता है जिसमे उपयोग होता है जटामांसी, कपूर और चंदन का| वता दोष हो तो छाछ से टकरा धारा करे घर पर| माइग्रेन के दौरे से बचने के लिए मुँह में यष्टिमधु का टुकड़ा रख के चूसे | कुमारी (एलो वेरा) एक टुकड़ा खाए और आमला हमेशा सेवन करे| 

धनिए से माइग्रेन का आयुर्वेदि घरेलु इलाज – Coriander seeds for migraine ayurvedic upchar in hindi

धनिए के बीज को रात भर भिगोएे और पानी पी ले| बीज को गुड के साथ चबा के खा ले, खाली पेट पर| 

किशमिश से माइग्रेन का आयुर्वेदिक घरेलू उपाय – Raisins for migraine ayurvedic dawai in hindi

एक मुठी भर काली किशमिश ले और रात भर पानी में भिगो दे| किशमिश से माइग्रेन के घरेलू इलाज में दूसरे दिन सवेरे यह किशमिश खा ले| 

केसर से माइग्रेन का इलाज – Saffron migraine treatment in hindi

तनाव और अन्य कारण से माइग्रेन होता है तो केसर से माइग्रेन का देसी उपाय करने के लिए गरम दूध में केसर मिला के पीए| 

लहसुन से आयुर्वेदिक माइग्रेन के उपाय करे – Garlic for migraine ayurvedic home remedies in hindi

लहसुन को पीस के सरसों के तेल मे गरम करे और ठंडा होने दे और यह तेल मस्तिष्क पर मालिश करे रात को तो माइग्रेन से छुटकारा मिलता है| इसी तेल से पैरो के तलवे की भी मालिश करे| 

लौंग से अधशिशी का आयुर्वेदिक इलाज - Cloves for ayurvedic treatment for migraine in hindi

अधशिशी का दौरा पड़ने पर मुँह में एक लौंग रखे| लौंग और तुलसी को पीस के रस बनाए और तिल के तेल में मिला के सर पर, कानो के आजूबाजू और मस्तिष्क पर मालिश करे| और कुछ नहीं तो तुलसी के पत्ते को चबाये तो भी माइग्रेन से राहत मिलती है| 

शहद चाटे माइग्रेन के दर्द इलाज में – Lick honey as ayurvedic medicine for migarine in hindi

माइग्रेन का दौरा शुरू होने के लक्षण महसूस होते हो तो तुरंत शहद चाटे| इसमें दालचीनी या काली मिर्च एक-दो चुटकी डाल के चाटे तो और भी अच्छा है| 

माइग्रेन के घरेलू टिप्स – Tips for migraine control in hindi

  • आहार में चॉक्लेट, कैफीन और ऐसे पदार्थ ना खाए जिससे माइग्रेन का दौरा पड़े| 
  • खाना समयसर खाए और 8 घंटे की नींद ले|
  • खाने के बाद चले ताकि गैस ना हो| 
  • धूप मे जाए तो काले चश्मे लगाए| 

माइग्रेन को नियंत्रण में रखना असान है यहाँ पर बताए माइग्रेन के घरेलू उपाय के प्रयोग से| आयुर्वेदिक माइग्रेन का उपचार करे तो 3-4 महीने में माइग्रेन का असर बिल्कुल कम होता जाएगा और दौरे भी कम हो जाएँगे|

Leave a Comment

Your Name

Comment

6 Comments

Dheeraj Sinha, Dec 26, 2017

Aapne jo ayurvedic treatment likha hai migrain ke liye kiya yeh normal sir dard ke liye bhi laabhkaari hai kiyunki mere sir mai jaayedatar halka halka dard rehta hai jisse mera kiski bhi kaam mai concentrate nahin ho pata hai meri madad karen.

Manali Srivastav, Dec 27, 2017

Takriban 1 month pehle mere husband ko daura aaya tha aur unke sir mai bhi hamesha dard rehta hai kiya iska matlab yeh hai ki unko bhi migrain hai please help me.

ऋषिका बजाज, Dec 30, 2017

यह दर्द सिर के एक भाग में होता है इस दर्द का संबंध आखों की कमजोरी मितली तथा उल्टियां आदि आने से भी है कई बार इसके रोगी को चक्कर आने लगते हैं|

सलमा , Jan 04, 2018

नींबू के छिलके को पीसकर इसका लेप माथे पर लगाने से माइग्रेन में होने वाले सिरदर्द से राहत मिलती है और माइग्रेन ठीक होता है साथ ही शरीर में होने वाली बेचैनी और जलन से भी आराम मिलता है।

ज्योत्सना बंसल, Jan 09, 2018

माइग्रेन का सिरदर्द कम करने के लिए एक सबसे सरल उपचार है अपने सिर पर आइस पैक रखें आइस पैक मस्तिष्क में रक्त के प्रवाह को नियंत्रित करने में मदद करता है और दर्द को कम कर देता है प्रभावित क्षेत्र कनपटी और गर्दन पर प्रभावी राहत के लिए आइस पैक को धीरे-धीरे रगड़ें।

जितेंदर महाजन , Jan 19, 2018

कई लोगों को तेज माइग्रेन के दर्द में कॉफी पीने से भी तुरंत राहत हो जाती है कॉफी में मौजूद कैफीन माइग्रेन टिृगर की तरह काम करता है और एडेनोसाइन के प्रभाव को कम कर देता है हालांकि बहुत ज्यादा कैफीनयुक्त पदार्थ भी सेहत के लिए नुकसानदायक होते हैं लेकिन एक कप कॉफी आपके स्वास्थ्य को लाभ पहुंचाती है।

Loading...