एक्यूप्रेशर की सहायता से पाएँ सिरदर्द और माइग्रेन से मुक्ति - Acupressure points for migraine in hindi

एक्यूप्रेशर की सहायता से पाएँ सिरदर्द और माइग्रेन से मुक्ति - Acupressure points for migraine in hindi

माइग्रेन के दर्द का इलाज एक्यूप्रेशर से (Acupressure treatment points for migraine pain in hindi): माइग्रेन एक अजीब परेशानी है जो किसी कीटाणु या वाइरस से नहीं होती है और जब होती है तो माइग्रेन का दौरा व्यक्ति को और कुछ नहीं करने देता है| माइग्रेन के कारण कई है जैसे की दवाई, एलर्जी, खाद्य पदार्थ, मौसम का बदलाव, नींद की कमी, तनाव, वंश परंपरागत हालत, शराब, तंबाकू, तीव्र गंध, आदि हो सकते है| माइग्रेन के इलाज में माइग्रेन के लक्षण और माइग्रेन के कारण जानना ज़रूरी है और माइग्रेन के घरेलू उपचार से जल्द ही राहत मिलती है| जड़ी बूटी, मालिश, गरम-ठंडे पानी के पोते, यह है कई ऐसे असरकारक माइग्रेन के इलाज| इसके अलावा बिन परंपरागत माइग्रेन के इलाज भी है जिस में से एक है एक्यूप्रेशर| जहाँ एक्यूपंक्चर मे विशेषज्ञ सुई घुसा के माइग्रेन का इलाज करते है वहाँ पर एक्यूप्रेशर शरीर के चुने हिस्से पर दबाव डालने से माइग्रेन का इलाज होता है| यह आप घर पर भी कर सकते है और आसान है| जानिए एक्यूप्रेशर माइग्रेन इलाज करने के तरीके| 

हाथ के चुने हुए जगह पर एक्यूप्रेशर से माइग्रेन का इलाज – Acupressure on hand in hindi

  • एक्यूप्रेशर से माइग्रेन का इलाज करने के लिए हाथ से शुरू करे| अंगूठे और तर्जनी के बीच की चाँदी को दो उंगलियो से दबाए और 10 मिनिट तक ऐसा करते रहे| दूसरा एक्यूप्रेशर बिंदी है कनिष्ट और अनामिका उंगली के बीच की जगह जहाँ पर इस प्रकार का दबाव डाले| 
  • अंगूठे और कलाई का जोड़ जहाँ होता है वहाँ पर दबाव डाले तो माइग्रेन में राहत मिलेगी| 

सर पर माइग्रेन के लिए एक्यूप्रेशर इलाज – Acupressure on pressure points on head to relieve migraine

  • जहाँ नाक और भवर मिलते है और आँख के अंदर के भाग पर वहाँ पर उंगली या अंगूठे से दबाव डाले और 10 मिनिट तक ऐसा दबाव बनाए रखे तो माइग्रेन के दर्द से छुटकारा मिलेगा| 
  • अगर माइग्रेन का दर्द सर के आगे के भाग में होता है तो यह माइग्रेन एक्यूप्रेशर इलाज करे| चेहरे के बाजू जहाँ पर आँख मिलती है और आँखो के आजू बाजू की हड्डियो पर दबाव डाले अपने तर्जनी उंगली और अंगूठे के सहारे तो शीघ्र ही आपको माइग्रेन के दर्द से राहत मिलेगी|  
  • कान के नीचे जहाँ पर खोपड़ी की हड्डी ख़तम होती है वहाँ पर उंगलियो से मालिश करे और एक्यूप्रेशर दबाव डाले और साथ मे गहरी सास आराम से ले| यह क्रिया तीन मिनिट तक करे| 
  • कान के आधे इंच उपर और मस्तिष्क की तरफ, सर के बाजू मे, अंगूठे से दबाव दे और गोल गोल घुमाए तो माइग्रेन दर्द का यह रामबाण इलाज है| 
  • खोपड़ी के नीचे जहाँ गर्दन से जुड़ती है वहाँ खड़्डे जैसा होता है| इस जगह पर हर रोज नियमित अंगूठे से दबाव दे के गोल गोल घूमाने से आराम मिलता है| कम से कम एक मिनिट तक करे| 

पैरो में एक्यूप्रेशर के एक्यूप्रेशर बिंदु – Acupressure in feet in hindi

माइग्रेन के एक्यूप्रेशर इलाज में पैर के बड़े अंगूठे और दूसरे अंगूठे के बीज की चाँदी और एक इंच पीछे दबाव डाले एक मिनिट तक तो माइग्रेन के दौरे से छुटकारा मिलेगा| 

एक्यूप्रेशर से माइग्रेन का इलाज में ध्यान रखने वाली बातें – Points to keep in Mind for Acupressure treatment points for migraine in hindi

  • माइग्रेन का एक्यूप्रेशर से इलाज करे तो यह बाते ध्यान में रखे| 
  • ज़्यादा वजन ना दे की दर्द होने लगे| दर्द हो तो दबाव बंद कर दे| 
  • उंगली या अंगूठे से दबाव डाले, किसी पैनी चीज़ से नहीं| चम्मच के पीछे के भाग से भी दबाव दिया जा सकता है और छोटे से बाल के सहारे भी| 

माइग्रेन जैसे असाधारण तकलीफ़ में असाधारण इलाज जैसे की एक्यूप्रेशर का इलाज माइग्रेन के लिए फायदा देता है और लंबे समय तक मुक्ति  दिलाता है|

Leave a Comment

Your Name

Comment

0 Comments

Loading...